छत्तीसगढ़ से ब्यूरो रिपोर्ट रोशन कुमार सोनी 


गौठानों से पारम्परिक व्यवसायों को सहेजने संवारने की हो रही शुरुआत

कोसमनारा गौठान में अब तैयार होंगे बांस से बने उत्पाद

-----------------------------------------------------
रायगढ़, 21 जनवरी 2022/ गांवों में गौठान स्थानीय संसाधनों पर आधारित आजीविका मूलक गतिविधियों के केन्द्र के रूप में विकसित हुए हैं। जहां गोबर खरीदी और वर्मी कम्पोस्ट निर्माण जैसे दोहरे लाभ वाली गोधन न्याय संचालित है। महिलाएं यहां कृषि और गैर कृषि आधारित आयमूलक कार्य कर रही हैं। ये ग्रामीण महिलाओं जो अमूमन घरेलू काम काज के साथ मौसम आधारित कृषि कार्यों में संलग्न रहती थी। जिससे उनके द्वारा किये जाने वाले श्रम का नियोजन तो होता था लेकिन वह नियमित अतिरिक्त आय सृजित नहीं कर पाते थे। मार्किट लिंकेज के साथ उनके बनाये उत्पादों को स्थानीय स्तर पर बाजार भी मुहैय्या कराया जा रहा है। ग्रामीण अर्थव्यवस्था की मजबूती के साथ स्वावलंबन की ठोस आधारशिला बन रहा गौठान अब ग्रामीण इलाकों के पारंपरिक व्यवस्याओं को सहेजने और संवारने के जरिया भी बनने जा रहे हैं।
          मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की इस सोच को साकार करने जिला प्रशासन ने कलेक्टर श्री भीम सिंह के मार्गदर्शन में गांवों के विभिन्न समाज आधारित पारम्परिक व्यवस्याओं को एक व्यवस्थित मांग और आपूर्ति के चैनल से जोडऩे की शुरुआत की है। जिससे इन व्यवसायों को जो कभी न केवल ग्रामीण इलाकों में रोजगार का बड़ा माध्यम थे बल्कि स्थानीय जरूरतों की पूर्ति स्थानीय स्तर पर ही संभव बनाते थे, उसे सहेजा व संवारा जा सके। बंसोड़, अघरिया, तेली, कुम्हार, झारा शिल्प, लोहार ये ऐसे समुदाय रहे हैं जिनका अपना खास हुनर और कौशल रहा है। इनके बनाये उत्पादों के गुणवत्ता का बखान बड़े बुजुर्गों के मुंह से हमेशा सुनने को मिला है। इसी को ध्यान में रखते हुए इन व्यवसायों से जुड़े लोगों को नियमित रोजगार मुहैय्या कराने उन्हें गौठानों से जोड़ा रहा है। इसी सिलसिले में कलेक्टर श्री भीम सिंह ने पिछले दिनों इन समाज के लोगों की बैठक लेकर कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उन्हें संसाधन के साथ काम करने की जगह उपलब्ध कराने कहा था। इसी के अंतर्गत ग्राम कोसमनारा के बंसोड़ समाज के लोगों को ग्राम गोठान के सामुदायिक कर्मशाला को बांस की सामग्री निर्माण हेतु 19 जनवरी 2022 को समाज प्रमुख श्री गनपद बसोड को सौपा गया। जहां वे बांस के उत्पाद तैयार कर सकेंगे। उनके द्वारा तैयार उत्पादों के विक्रय में सहयोग किया जाएगा। जिससे उनके लिए एक नियमित बाजार तैयार हो। इस अवसर पर जनपद पंचायत रायगढ़ के अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सनत नायक और ग्राम कोसमनारा के सरपंच और अन्य गणमान्य नागरिक मौजूद थे।

Post a Comment

और नया पुराने
NEWS WEB SERVICES