छत्तीसगढ़ से ब्यूरो रिपोर्ट रोशन कुमार सोनी 

बसना विकासखंड के छत्तीसगढ़ विधुत मर्यादित गढ़फुलझर अंतर्गत आने वाले ग्रामों के घरेलू बिजली उपभोक्ता खपत की अपेक्षा अधिक बिजली बिल आने से परेशान हैं। जबकि बिजली विभाग के कर्मचारी घर जाकर मीटर रीडिंग कर रहे हैं परंतु फिर भी बिल की राशि अधिक आ रही है ऐसे में उसे सुधारने के लिए ग्राहकों को कार्यालयों के चक्कर काटने पड़ रहे हैं। गढ़फुलझर सबस्टेशन के गांव आमापाली निवासी मुकेश बारीक पिता आलेख बारीक बताया कि उसका मीटर उपभोक्ता क्रमांक 1005371179 में नियमित रूप बिजली बिल जमा करते आ रहा हूँ जो जुलाई 2021 बिजली बिल 220 और नवम्बर 2021 में 470 आया जिसे मेरे द्वारा जमा कर दिया गया। लेकिन अचानक दिसम्बर 2021 में आये 16510 रुपये का बिजली बिल को देखकर मेरा होश उड़ गया जिसकी शिकायत मेरे द्वारा सबस्टेशन गढ़फुलझर केंद्र जाकर 24 दिसम्बर 2021 को शिकायत किया गया जिस पर अधिकारी का कहना था कि रीडिंग लेने वाले कि गलती हैं। बिजली बिल को सुधार दिया जाएगा कहा गया लेकिन शिकायत किये महीने पूरा हो चुका, लेकिन अब तक कोई सुधार नही किया गया बल्कि रोज गढ़फुलझर कार्यालय के चक्कर काट रहा हूं। जबकि पुनः जनवरी माह में हजारों रुपये बिजली बिल थमा दिया गया हैं। जिससे मानसिक रूप से बहुत आहत हूं। इस प्रकार नियमित रूप से बिजली बिल जमा करने वाले उपभोक्ताओं को बिजली विभाग के कर्मचारियों के गलती के चलते अनाप शनाप बिजली बिल थमाया जा रहा है। उपभोक्ता बिजली बिल सुधरवाने कार्यालयों के चक्कर काट रहें है। आए दिन में कहीं न कहीं पर विभाग के कार्यालय पहुंचकर लोग शिकायत दर्ज करा रहे है। उसके बाद भी विभाग चैन की नींद सो रहा है। विभाग कि लापरवाही के चलते राज्य सरकार की भी किरकिरी हो रही है।

Post a Comment

और नया पुराने
NEWS WEB SERVICES