छत्तीसगढ़ से ब्यूरो रिपोर्ट रोशन कुमार सोनी 


11,53,684 को पहला और 6,44,379 लोगों को लगा कोविड का दूसरा डोज,
 
 3,781 हितग्राहियों को लगे प्रिकाशन डोज,

जांजगीर-चांपा, 28 जनवरी, 2022/  जिले में कोरोना की तीसरी लहर और नए वेरियंट ओमीक्रॉन से सुरक्षा, बचाव और उपचार के लिए समुचित उपाय किये जा रहे हैं। इसके तहत टीकाकरण पर जोर दिया जा रहा है। जिले में अब तक 17.98 लाख कोरोना से सुरक्षा का टीका लगाया जा चुका है। 
     प्राप्त जानकारी के अनुसार 11 लाख 53 हजार 684  लोगों को कोरोना सुरक्षा का प्रथम डोज का टीका लगाया गया है। वहीं 6 लाख 44 हजार 379 लोगों को दूसरा डोज लगाया जा चुका है। तीन हजार 781  लोगों को प्रिकॉशन डोज (बूस्टर डोज) का टीका लगाया गया है।
     जिले में कोविड-19, टीकाकरण पर विशेष जोर दिया जा रहा है। कोविड से सुरक्षा के लिए लोगों में टीकाकरण को लेकर खासी जागरूकता देखी जा रही है। इसी के तहत 18 वर्ष से अधिक आयु के 11 लाख 53 हजार 684 लोगों को प्रथम डोज और 6  लाख 44 हजार 379 हितग्राहियों को दूसरी डोज का टीका लगाया जा चुका है। वहीं ज़िले में फ्रंटलाईन वर्कर, हेल्थ वर्कर और 60 वर्ष से अधिक आयु के कुल 3,781 हितग्राहियों को प्रिकॉशन डोज ( बूस्टर डोज) का टीका लगाया गया है। इसी प्रकार 15 से 18 वर्ष तक के 79 हजार 846  किशोरों को भी कोरोना से बचाव का टीका लगाया जा चुका है।

टीके का दोनों डोज लगवाना अनिवार्य - 

     स्वास्थ्य विभाग से जारी निर्देश के अनुसार टीका लगने के बाद भी कोरोना के सुरक्षा संबंधी प्रोटोकाल का पालन करना जरूरी है। टीका लगने के बाद कोरोना संक्रमित होने पर मरीज की स्थिति गंभीर नहीं होती। वह सामान्य उपचार सावाधानी अपनाकर जल्दी स्वस्थ हो सकता है। कोरोना से बचने के लिए टीके के दोनों डोज लगवाना भी अनिवार्य है। जिन्होंने पहला डोज लेकर छोड़ दिया है। उन्हें चिन्हाकित कर दूसरे डोज का टीका लगाया जा रहा है। विगत 03 जनवरी से 15 से 18 वर्ष के उम्र के किशोर-किशोरियों के लिए टीकाकरण शुरू हो गया है। इसके अलावा फ्रंट लाईन वर्कर, हेल्थ केयर वर्कर और 60 साल से अधिक उम्र वाले गंभीर बीमारी से पीड़ित हिताग्राहियों का प्रिकाशन डोज का टीकाकरण किया जा रहा है। शतप्रतिशत टीकाकरण होने से ही हम सब कोरोना से सुरक्षित हो सकेंगे।

Post a Comment

और नया पुराने
NEWS WEB SERVICES